Drish Dhatu Roop in Sanskrit

Drish Dhatu Roop in Sanskrit

Drish Dhatu Roop in Sanskrit

दृश्/पश्य धातु रूप: धातु ( पश्य/दृश् धातु के रूप संस्कृत में संस्कृत के क्रिया शब्द, Drish Dhatu Roop | दृश्/पश्य धातु रूप संस्कृत में) हर शब्द अन्ततः धातुओं के रूप में तोड़ा जा सकता है। कृ, भू, स्था, अन्, ज्ञा, युज्, गम्, मन्, जन्, दृश् आदि कुछ प्रमुख धातुएँ हैं। ‘धातु’ शब्द स्वयं ‘धा’ हर शब्द अन्ततः धातुओं के रूप में तोड़ा जा सकता है। कृ, भू, स्था, अन्, ज्ञा, युज्, गम्, मन्, जन्, दृश् आदि कुछ प्रमुख धातुएँ हैं। ‘धातु’ शब्द स्वयं ‘धा’ हैं।

Drish Dhatu Roop

पश्य/दृश् धातु रूप लट् लकार

एकवचन द्विवचन बहुवचन पुरुष
पश्यति पश्यतः पश्यन्ति प्रथम पुरुष
पश्यसि पश्यथः पश्यथ मध्यम पुरुष
पश्यामि पश्यावः पश्यामः उत्तम पुरुष

पश्य/दृश् धातु रूप लोट् लकार

एकवचन द्विवचन बहुवचन पुरुष
पश्यतु पश्यताम् पश्यन्तु प्रथम पुरुष
पश्य पश्यतम् पश्यत मध्यम पुरुष
पश्यानि पश्याव पश्याम उत्तम पुरुष

पश्य/दृश् धातु रूप लङ् लकार

एकवचन द्विवचन बहुवचन पुरुष
अपश्यत् अपश्यताम् अपश्यन् प्रथम पुरुष
अपश्यः अपश्यतम् अपश्यत मध्यम पुरुष
अपश्यम् अपश्याव अपश्याम उत्तम पुरुष

पश्य/दृश् धातु रूप विधिलिङ् लकार

एकवचन द्विवचन बहुवचन पुरुष
पश्येत् पश्येताम् पश्येयुः  प्रथम पुरुष
पश्येः पश्येतम् पश्येत मध्यम पुरुष
पश्येयम् पश्येव पश्येम उत्तम पुरुष

पश्य/दृश् धातु रूप लृट् लकार

एकवचन द्विवचन बहुवचन पुरुष
द्रक्ष्यति द्रक्ष्यतः द्रक्ष्यन्ति प्रथम पुरुष
द्रक्ष्यसि द्रक्ष्यथः द्रक्ष्यथ मध्यम पुरुष
द्रक्ष्यामि द्रक्ष्यावः द्रक्ष्यामः उत्तम पुरुष

Related Posts….

Leave a Comment