Dev Shabd Roop In Sanskrit

Dev Shabd Roop In Sanskrit

दोस्तों आज हमने Dev Shabd Roop देव शब्द के रूप लिखे है। संस्कृत भाषा में वाक्य बनाने के लिए शब्दों के रूप बनाने पड़ते है अतः वाक्य के निर्माण के लिए एक शब्द के अनेक रूप होने आवश्यक है।

 एकवचन द्विवचन बहुवचनविभक्ति
 देवः देवी देवाःप्रथमा
 देवम् देवौ देवान्द्वितीया
 देवेन देवाभ्याम् देवैःतृतीया
 देवाय देवाभ्याम् देवेभ्यःचतुर्थी
 देवात् देवाभ्याम् देवेभ्यःपञ्चमी
 देवस्य देवयोः देवानाम्षष्ठी
 देवे देवयोः देवेषुसप्तमी
 हे देव हे देवौ हे देवाः !सम्बोधन

Read Also:

FAQ’S

देव शब्द  के प्रथमा विभक्ति एकवचन का रूप कौन सा है?

 देव शब्द के प्रथमा विभक्ति एकवचन का रूप देवः है।

देव शब्द का अर्थ क्या होता है?

देव का अर्थ है “दिव्य” या “दिव्यता से संबंधित”। यह शब्द हिंदू धर्म में भगवान को संदर्भित करता है और इसका अनुवाद “दिव्य प्रकृति” या “दिव्यता” के रूप में किया जाता है।

देव शब्द रूप की चतुर्थी विभक्ति का द्विवचन क्या है?

जब हम दो देवों के बारे में बात करना चाहते हैं तो हम कहते हैं देवाभ्यम्।

देव शब्द रूप की पंचमी विभक्ति का द्विवचन क्या है?

जब आप दो देवताओं के बारे में बात करना चाहते हैं, तो आप केवल “देव” के बजाय “देवभ्यम” शब्द का उपयोग करते हैं।

देव शब्द रूप की सप्‍तमी विभक्ति का एकवचन क्या है?

देव शब्द अनेक प्रकार से अपना रूप बदल सकता है। जब हम सातवें तरीके के बारे में बात करते हैं जिससे यह बदल सकता है, तो हम “देव” के बजाय “देवे” शब्द का उपयोग करते हैं।

Leave a Comment